इंडियन मीडिया कोरोना के नाम से लोगो को कर रहा है भयभीत

इंडियन मीडिया कोरोना के नाम से लोगो को कर रहा है भयभीत ?

689 Views

इंडियन मीडिया कोरोना के नाम से लोगो को कर रहा है भयभीत
Indian media is intimidating people by the name of Corona

इंदौर : वैसे तो कोरोना एक एक वायरस है जोकि चीन की देन है. लेकिन इस वायरस में अगर मीडिया एक जोरदार तड़का लगा दिया जाये तो यह एक मानसिक बीमारी भी बन सकता है. 24 घंटे में से 6 – 7 घंटे की न्यूज़ मसाला कोरोना दे जाता है मीडिया चैनल्स को. और देश ही नहीं पूरे विश्व की जनता बड़े चाव से उसे देखती भी है. लेकिन इस मानसिक तौर पर पैठ बनाने वाले खबरों के दुष्परिणाम भी मिलने लगे है.  (Indian media is intimidating people by the name of Corona)

कुछ लोगो को कोरोना के जब हल्के सिमटम्स मिलते है तो वो पूर्व में देखी हुई न्यूज़ के कारण अपने मन में एक कल्पना की रचना करते है. और अंदरूनी आत्मविश्वास खो देते है. जिसका नतीजा यह होता है कि वो अपने आप को ज्यादा बीमार समझ लेते है और जैसा की सभी को पता की अगर व्यक्ति मन से कमजोर होता है तो वो बीमारी की तरफ जाता है. हम आप से भय की नहीं सावधानी की अपील करते है.

आज लगभग हर न्यूज़ चैनल की रिपोर्ट होती है कि “इतने समय में इतने मरीज हो गए तो आने वाले समय में इतने मरीज होंगे“। और ताज़े आकड़ो का बखान पूरे पेज भरकर होता है. अगर हम आकड़ो की बात करे तो कोविड के 15 लाख मामले पूरे देश में आये है और जिसमे से 9.5 लाख लोग ठीक भी हो चुके है. और कोरोना से लगभग 34 हजार से ज्यादा लोग काल के गाल में समा गए है।

लेकिन यह 34 हज़ार का आकड़ा कितना सही है इसका अंदाज़ा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि अगर किसी की मृत्यु हृद्याघात से हुई है लेकिन अगर वो कोरोना पॉजिटिव आया है तो उस को गिन लिया गया कोरोना की श्रेणी में, जी हां यहाँ तथ्य सही है और कई जगह इसकी पुष्टि भी हुई है.

हम 135 करोड़ लोगो के देश में एक्टिव कोरोना मरीज 6 लाख है.

अंदाज़ा आप खुद लगा सकते है कि जितना भय मीडिया द्वारा प्रचारित किया जा रहा है क्या वाकई में ये उतना है?

जवाब, नहीं है दरसल मीडिया चैनल्स को अपनी TRP बनाये रखने के लिए मिर्च मसाले दार खबरे चलानी पड़ती है और बहस भी खूब कराते है राजनैतिक पार्टियों से उनके प्रवक्ताओं को बुला कर जिनके पास आधे अधूरी जानकरी से ज्यादा कुछ नहीं होता है.

हलाकि कोरोना को जब वैश्विक महामारी घोषित किया गया तो, इसमें भारत के सरकार ने शुरू में एयरपोर्ट सील ना करके यह गलती की है. लेकिन बाद में लॉक डाउन लगाकर और उसका कड़े नियमो का पालन करवा कर सरकार वाह-वाही भी लूटी है. किन्तु आम जनता को’स्वयं प्रयास करना होगा कि पूरी तरीके से सावधानियों का पालन करे तो यह बीमारी से हम दूर रह सकते है.

कोरोना जीत के 3 मूल मन्त्र है :

  • सोशल डिस्टन्सिंग और फेस मास्क,
  • बिना साबुन से हाथ धोये अपने मुँह को नहीं छूना,
  • अति आवश्यक कार्य हेतु ही घर से निकलना है.

अपने आस पास के बुजुर्ग, बच्चो का ध्यान भी रखे और अगर कोई बीमारी की चपेट में आ जाता है तो उसे जीने का विश्वास दिलाये और उस समय तक कम से कम उसे न्यूज़ चॅनेल्स से दूर भी रखे.

1 Comment

  1. Sahi bat he…Media ko samjhna chahiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *