UN Kashmir Report- India rejects the report of UN

UN की “कश्मीर रिपोर्ट” भारत ने रिपोर्ट को नकारा

675 Views

UN की “कश्मीर रिपोर्ट” भारत ने रिपोर्ट को नकारा

जिनेवा:  संयुक्त राष्ट्र द्वारा कश्मीर पर एक रिपोर्ट तैयार की गयी है. और उसमे पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में कतिथ तौर पर ये कहा गया है. कि वहा मानव अधिकारों का उल्लंघन एवं हनन किया जा रहा है. और इसकी अंतर्राष्ट्रीय जाँच कराने की मांग की गयी है. जिसे भारत ने साफ़ तौर पर नकारते हुए अपनी कड़ी और तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है. कि हम इस जाँच का विरोध करते है और इस रिपोर्ट को अमान्य करते है. यह जाँच पूरी तरह से पक्षपात पूर्ण और पूर्वाग्रह दर्शाती है. यह भारत की संप्रभुता और अखंडता पर एक सवाल है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता.

कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और पाकिस्तान ने इसके एक हिस्से पर जबरन ही कब्ज़ा कर रखा है.

विदेश मंत्रालय द्वारा यूएन की इस रिपोर्ट पर दिए गए जवाब में कहा गया है:

इस रिपोर्ट में जो भारतीय क्षेत्र बताये गए है. वो गलत तरीके से पेश किये गए है जो की एक तरह से भ्रम पैदा करते है और अस्वीकार्य है. गिलगिट-बाल्टिस्तान और आजाद कश्मीर जैसा कोई क्षेत्र नहीं है.

 

वहीं यूएन की रिपोर्ट पर सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा कि
‘मैं उस रिपोर्ट को कूड़ेदान में फेंक देंगे। वे पूर्वाग्रह से ग्रस्त हैं क्योंकि इन्हें ऐसे लोगों ने तैयार किया है जिन्हें इस मुद्दे की जानकारी ही नहीं। हम इस रिपोर्ट पर टिप्पणी करना नहीं चाहते।’

वही दूसरी तरफ नापाक पाकिस्तान ने अपने कायराना अंदाज़ में ख़ुशी जाहिर की है. UN की रिपोर्ट पूरी तरह भारतीय सेना पर केन्द्रित है. और बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद पाकिस्तान उस आतंकवादी को UN में शहीद कह चूका है. पर वो कितना बड़ा आतंकवादी था ये जग-जाहिर है.

क्या है UN के हिसाब से मानव अधिकार

इसके लिए UN की PDF फाइल की डायरेक्ट लिंक हम आपको दे रहे है. UN ने इन अनुछेदो को 500 से ज्यादा भाषाओ में ट्रांसलेट कर रखा है हम आपको यहाँ इंग्लिश, हिंदी और हिंदी ऑडियो फाइल की डायरेक्ट लिंक शेयर कर रहे है.

  1. Universal Declaration of Human Rights in english
  2. Universal Declaration of Human Rights in Hindi
  3. Universal Declaration of Human Rights in Hindi Audio

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *